शंघाई समिट / पाकिस्तान ने भारत की अपील मंजूर की, मोदी के लिए हवाई क्षेत्र खोला

0
209

शंघाई सहयाेग संगठन (एससीओ) समिट में शामिल हाेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र से होकर किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक जा सकेंगे। पाक की इमरान खान सरकार ने साेमवार काे भारत की अपील पर माेदी के विमान काे अपने हवाई क्षेत्र से गुजरने की इजाजत दे दी। मोदी 13-14 जून को एससीओ समिट में शामिल होंगे। इस सम्मेलन में इमरान खान भी मौजूद रहेंगे।

भारतीय सेना ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के कैंपों पर एयर स्ट्राइक की थी। उसके बाद पाकिस्तान ने अपने 11 हवाई मार्गों में से दक्षिणी पाकिस्तान से होकर जाने वाले केवल दो मार्ग ही खोले हैं। भारत ने पाकिस्तान से मोदी के बिश्केक जाने के लिए अपने हवाई क्षेत्र खोलने की अपील की थी।

औपचारिकताएं पूरी करने के बाद भारत को बताया जाएगा

पाक अधिकारियों ने न्यूज एजेंसी से कहा कि इमरान खान की सरकार ने भारत का आग्रह स्वीकार कर लिया है। मोदी का विमान अब पाक हवाई क्षेत्र से होकर बिश्केक जा सकेगा। औपचारिकताएं पूरी करने के बाद भारत सरकार को फैसले के बारे में बता दिया जाएगा। नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (सीएए) को भी बाद में एयरमेन को सूचित करने का निर्देश दिया जाएगा।

इमरान खान भी सम्मेलन में शामिल होंगे

पाकिस्तान का कहना है कि हमें उम्मीद थी कि भारत शांति वार्ता के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देगा। अधिकारी ने कहा कि इमरान खान ने हाल में कश्मीर मुद्दे समेत कई अहम विवादों को सुलझाने के लिए अपने समकक्ष प्रधानमंत्री इमरान खान को पत्र लिखा था। पाकिस्तान को उम्मीद है कि भारत शांति प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देगा। हालांकि एससीओ समिट के इतर मोदी और इमरान की बातचीत होगी या नहीं, इस पर फिलहाल कुछ भी तय नहीं है।

पाक ने सुषमा स्वराज के लिए हवाई क्षेत्र खोले थे

इससे पहले 21 मई को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बिश्केक जाने के लिए पाक ने अपने हवाई क्षेत्र खोले थे। भारतीय वायुसेना (आईएएफ) ने भी बालाकोट हमले के बाद पाक के विमानों के लिए अस्थाई तौर पर अपने हवाई क्षेत्र बंद कर दिए थे। हालांकि, 31 मई को आईएएफ ने सारे प्रतिबंध हटा लिए। पाकिस्तान ने भारत के साथ लगने वाली अपनी पूर्वी सीमा के आसपास हवाई क्षेत्र पर प्रतिबंध 14 जून तक बढ़ा दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here